नींद शरीर को स्वस्थ और संतुलित बनाएं रखने के लिए बहुत ज्यादा ही महत्वपूर्ण है। जब आप अच्छे से नींद लेते है, तो यह आपको तनाव से राहत देती है। इतना ही नही जीवन शक्ति को बनाएं रखने में भी मदद करती है। रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (सीडीसी) के विश्वसनीय स्रोत के अनुसार, एक तिहाई से अधिक अमेरिकी वयस्क नियमित रूप से रात में छह घंटे से कम सोते हैं। यह बुरी खबर है क्योंकि पर्याप्त नींद के लाभ बेहतर हृदय स्वास्थ्य और कम तनाव से लेकर बेहतर याददाश्त और वजन घटाने तक हैं। अपने स्वास्थ्य का प्रबंधन करने के लिए आवश्यक बंद-आंख प्राप्त करने में सहायता के लिए कैफीन पर लोड करना या झपकी लेना बंद करें। उतना नींद अवश्य ले जो शरीर के लिए जरुरी है।

मुझे नींद नहीं आ रही - क्या करूँ (Problem of Sleep in Hindi)

Problem of Sleep in Hindi

विशेषज्ञ ऐसा मानते है की इस तरह की प्रवृति के लिए जीन ज़िम्मेदार है। नींद मन और शरीर की एक स्वाभाविक रूप से आवर्ती अवस्था है। जिसकी विशेषता चेतना को परिवर्तित करना गतिविधि मांसपेशियों की गतिविधि में कमी और तीव्र नेत्र गति (आरईएम) नींद के दौरान लगभग सभी स्वैच्छिक मांसपेशियों का निषेध और परिवेश के साथ बातचीत में कमी है। यह जागृति से उत्तेजनाओं पर प्रतिक्रिया करने की कम क्षमता से अलग है।

लेकिन कोमा या चेतना के विकारों की तुलना में अधिक प्रतिक्रियाशील है, जिसमें नींद अलग, सक्रिय मस्तिष्क पैटर्न प्रदर्शित करती है। इतना ही नही नींद की एक प्रसिद्ध विशेषता सपना है, एक अनुभव जिसे आमतौर पर कथा के रूप में वर्णित किया जाता है ।जो प्रगति के दौरान जाग्रत जीवन जैसा दिखता है। लेकिन जिसे आमतौर पर बाद में कल्पना के रूप में पहचाना जा सकता है। नींद के दौरान, शरीर की अधिकांश प्रणालियाँ उपचय अवस्था में होती हैं, जो प्रतिरक्षा, तंत्रिका, कंकाल और पेशीय प्रणालियों को बहाल करने में मदद करती हैं।

नींद क्यों जरुरी है?

why sleep is important

जब हम आप या कोई और गहरी नींद में होते है,तो शरीर उस वक्त क्लीनिंग का काम करता है। क्योंकि ऐसा माना जाता है कि शरीर में आंतरिक मरम्मत का काम सोने के दौरान ही होता है। इससे मांसपेशियां मजबूत होती हैं व दिमाग की कार्यक्षमता बढ़ती है। शरीर में मसल्स की ग्रोथ से माना जाता है कि बच्चे का विकास सही तरीके से हो रहा है। एक्सपर्ट कहते हैं कि इसलिए कम से कम 8 घंटे की नींद लेनी चाहिए।

नियमित वर्कआउट में भी बदलाव करते रहना चाहिए

Changes should also be made in regular workouts

अपने बिस्तर का इस्तेमाल केवल सोने के लिए करें जिस बिस्तर का आप इस्तेमाल करते है, वह आपके सोने के लिए होना चाहिए। काम करने खाने या टीवी देखने से जुड़ा नही होना चाहिए। यदि आप रात में जागते हैं, तो अपने लैपटॉप या टीवी को चालू न करें और कुछ सुखदायक आऱाम करें। जैसे ध्यान या पढ़ना जब तक आपको फिर से नींद न आने लगे। नींद एक खूबसूरत चीज है। यदि आपको लगता है कि आप पर्याप्त नींद नहीं ले रहे हैं, या अच्छी नींद का आनंद नहीं ले रहे हैं, तो ये सरल समायोजन अधिक आरामदायक रात में योगदान करने में मदद कर सकते हैं।

टेम्पेरटे क्लाइमेट अच्छा है, ट्रॉपिकल नहीं

Temperate Climate is Good, Not Tropical

समुद्र तट के लिए अस्सी डिग्री बहुत अच्छा हो सकता है, लेकिन रात में बेडरूम के लिए यह घटिया है। टेम्पेरटे क्लाइमेट अच्छा है, ट्रॉपिकल नहीं। NSF लगभग 65 डिग्री फ़ारेनहाइट के तापमान की सिफारिश करता है। थर्मोस्टैट, बेड कवर और आपके सोने की पोशाक के बीच संतुलन बनाने से आपके शरीर का तापमान कम हो जाएगा और आपको तेजी से और अधिक गहराई से सोने में मदद मिलेगी।

धूम्रपान न करें

don't smoke

धूम्रपान सेहत के लिए नुकसानदायक होता है। यह बात किसी से छुपा नही है। फिर भी लोग इसका सेवन आज के समय में बहुत अधिक मात्रा में कर रहें है। इससे कैंसर और फेफड़ों के खराब होने का खतरा ज्यादा बना रहता है। इसलिए अगर आप स्वस्थ रहना चाहते है तो आपको इस्तेमाल बिल्कुल ही बंद कर देना चाहिए।

एक अध्ययन में पाया गया कि धूम्रपान न करने वालों की तुलना में धूम्रपान करने वालों को पूरी रात की नींद के बाद आराम महसूस नहीं होने की संभावना चार गुना अधिक होती है। जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफमेडिसिन के शोधकर्ताओं ने इसे निकोटीन के उत्तेजक प्रभाव और रात के समय इससे निकलने का श्रेय दिया है। धूम्रपान स्लीप एपनिया और अस्थमा जैसे अन्य श्वास संबंधी विकारों को भी बढ़ाता है, जिससे आराम से नींद लेना मुश्किल हो जाता है।

अपना आहार बदलें

change your diet

स्वस्थ शरीर के लिए अच्छा और हेल्दी आहार बहुत जरुरी है। कॉफी, चाय, शीतल पेय और चॉकलेट जैसे कैफीन युक्त भोजन और पेय को मध्य दोपहर तक बंद कर दें। रात के खाने को अपना सबसे हल्का भोजन बनाएं और सोने से कुछ घंटे पहले इसे खत्म कर लें। मसालेदार या भारी भोजन छोड़ें, जो आपको नाराज़गी या अपच से जगाए रख सकते हैं।

मेथी का जूस इस्तेमाल करे

use fenugreek juice

अगर आप मेंथी ते जूस का इस्तेमाल करते है तो यह आपके लिए लाभकारी हो सकता है। इसके लिए आप दो चम्मच मेंथी के पत्ते का जूस और एक चम्मच शहद को अच्छी तरह से मिला लें। इसके बाद इन दोनों के मिश्रण को रोजाना इस्तेमाल करें यह आपके लिए लाभकारी साबित हो सकता है।

गर्म दूध का सेवन करे

drink warm milk

दूध के फायदे बहुत है लेकिन हर किसी को दूध पीना अच्छा नही लगता है । खास़तौर पर अगर बच्चो को देखा जाए तो वह दूध नही पीने के लिए तमाम बहाने ढूंढते है। दूध में कैल्शियम, मैगनीशियम, जिंक, फॉस्‍फोरस, ऑयोडीन, आयरन, पोटेशियम, फोलेट्स, विटामिन ए, विटामिन डी, राइबोफ्लेविन, विटामिन बी 12, प्रोटीन और स्वस्थ फैट मौजूद होता है। एक कप में गर्म दूध में एक या आधा चम्मच दलचीनी पाउडर को डालें फिर आपस में एक दुसरे को अच्छे से मिला लेँ। उसके बाद सोने से पहले इसका इस्तेमाल करे। इससे आपको बहुत ज्यादा ही फायदा मिलेगा।

मसाज थेरेपी

massage therapy

अगर आपको रात को नींद नही आ रही है। आपके लिए यह मसाज लाभकारी सिद्ध हो सकता है। अगर आप नारियल तेल के साथ अपने अंगूठे के ऊपरी भाग से मसाज करना शुरू करें। कुछ मिनट्स के लिए अंगूठे के ऊपरी भाग को दबाएं। इससे मेलाटोनिन रेगुलेट करने में मदद मिलती है, जिससे नींद आने में मदद मिलती है। इसके अलावा अब अपने अंगूठे की मदद से तलवे के मध्य में गोलाई में मसाज करें। इससे शरीर में मौजूद टेंशन खत्म होगी। इस प्रकार अपनी अच्छी नींद के लिए मसाज थेरेपी से भी राहत पाया जा सकता है।

केला का इस्तेमाल करे

use banana

बाकी फलों की अपेक्षा केला ज्यादा पौष्टिक होता है। इतना ही नही ऊर्जा के लिए भी केला अच्छा विकल्प माना जाता है। केला ग्लूकोज से भरपूर होता है। जिससे यह शरीर को तुरंत ऊर्जा प्रदान करता है। 75 प्रतिशत इसमें जल पाया जाता है। इसके अलावा, कैल्शियम, मैग्नीशियम, फास्फोरस, लोहा और तांबा भी इसमें पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। इसमें ऐसा तत्व पाया जाता है जो तनावमुक्त करते है। दूध में मौजूद Tryptophan और serotonin अच्छी नींद लेने में मददगार होता है. साथ ही दूध कैल्शि‍यम का भी एक अच्छा स्त्रोत है|

बदाम का सेवन करें

use almonds

बदाम आकार में भले ही छोटे होते है। लेकिन पोषक तत्वों से भरपूर होते है। इसमें विभिन्न प्रकार के मौजूद गुणों की वजह से आयुर्वेद में बादाम को काफी अहम माना गया है। ऐसा माना जाता है कि बादाम खाने से याददाश्त तेज होती है और कई प्रकार की शारीरिक व मानसिक समस्या के लक्षण दूर हो सकते हैं। यह भी केले जैसा मैग्न‍िशयिम का बहुत अचछा स्त्रोत है| ये नींद को बढ़ावा देने के साथ ही मांस-पेशि‍यों में होने वाले खिंचाव और तनाव को कम करता है। जिसकी वजह से आप चैन की नींद ले सकते है।

चेरी का सेवन करे

use cherries

वैज्ञानिक नाम में चेरी को प्रूनस एवियम कहा जाता है। यह लाल, काले और पीले रंग का होता है। ठंडे देशों में चेरी देखने और स्वाद दोनों में अच्छा होता है। इसकी खेती भारत में उत्तराखंड,हिमाचल प्रदेश और कश्मीर में पाया जाता है। इसमें थायमीन,राइबोफ्लैविन और विटामिन B6 काफी मात्रा में पाया जाता है। चेरी में प्रचुर मात्रा में मेलाटोनिन होता है जोकि शरीर के आंतरिक चक्र को नियमित करने में मदद करता है। एक्सपर्ट्स मानते हैं कि सोने से पहले एक मुट्ठी चेरी का सेवन अच्छी नींद लेने में मददगार साबित होता है. चेरी को जूस के रूप में भी लिया जा सकता है। वैसे यह बात समझ लीजिएं की अगर आप अच्छी नींद लेना चाहते है तो सोने वाले समय पर मोबाईल, टीवी जैसी चीजों को त्यागना होगा। आप अगर राहत पाना चाहते है तो इस लेख को पढ़कर के आप इसे अपने जीवन में इस्तेमाल कर सकते है। नींद से जुड़ी जो भी बाते बताई गई है। अगर आप उसे अपने जीवन मे उतारते है तो तत्काल आप इससे राहत भी पा सकते है।